ट्रेन और बस में भीड़ की जानकारी देगा गूगल का ये फीचर

0
51
Google Map
Google Map help to find train and bus

गूगल मैप्स बताएगा बस या ट्रेन में कितनी भीड़ है,

अब आपको किसी बस या ट्रेन में भीड़ की जानकारी लेनी है तो किसी से पूछ करने की आवश्यकता नहीं होगी, क्योंकि गूगल एक ऐसा फीचर लेकर आया है, जो आपको बस और ट्रेन में कितनी भीड़ है ये भी जानकारी उपलब्ध कराएगा। गूगल मैप्स ने इन यूजर्स की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए इस फीचर को रोलआउट किया है।

यह यूजर्स को पब्लिक ट्रांसपोर्ट की पूरी जानकारी देगा। इस फीचर की मदद से यूजर जान सकेंगे कि बस या ट्रेन टाइम पर है या लेट है। इतना ही नहीं यह फीचर पब्लिक ट्रांसपोर्ट में रहने वाली भीड़ का भी अनुमान लगा सकता है।गूगल मैप्स पब्लिक ट्रांसपोर्ट में देरी की संभावना को काफी हद तक उसी तरह बताएगा जैसे नैविगेशन के दौरान ट्रैफिक के बारे में बताता है।

Google Map
Google map Help to find better way to reach home soon, by its new features launched

यह नया फीचर ऐंड्रॉयड और आईओएस के लिये उपलब्ध है।

यह नया फीचर ऐंड्रॉयड और आईओएस यूजर को बताएगा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट में कितनी भीड़ होने की संभावना है। इस महीने गूगल मैप्स ने अपने यूजर्स के लिए कई नए फीचर रोलआउट किए हैं। जून की शुरुआत में ही गूगल मैप्स ने बस की रियल टाइम इन्फोर्मेसन और लाइव ट्रेन स्टेटस बताने की शुरुआत कर दी थी।

इस महीने गूगल मैप्स ने अपने यूजर्स के लिए कई नए फीचर रोलआउट किए हैं। जून की शुरुआत में ही गूगल मैप्स ने बस की रियल टाइम इन्फर्मेशन और लाइव ट्रेन स्टेटस बताने की शुरुआत कर दी थी। नए अपडेट के साथ गूगल मैप्स अब ऑटोरिक्शा के बारे में भी जानकारी देना लगा है।

गूगल के रिसर्च साइंटिस्ट एलेक्स फैब्रीकैंट ने कहा, ‘गूगल मैप्स ने बसों के लिए लाइव ट्रैफिक डीले को इंट्रोड्यूस किया है। यह फीचर इस्तांबुल, जागरेब, मनीला और ऐटलांटा जैसे दुनिया के कई प्रमुख शहरों में उपलब्ध हो गया है। इसकी फीचर की ऐक्युरेसी से दुनियाभर में 6 करोड़ यूजर्स को फायदा पहुंच रहा है। इसे सबसे पहले भारत में लॉन्च किया गया है। यह फीचर मशीन लर्निंग मॉडल पर काम करता है जिससे इसने रियल टाइम कार ट्रैफिक, बस रूट और उसके स्टॉप के डेटा के साथ ही बस यात्रा में लगने वाले अनुमानित समय के बारे में भी बताना शुरू कर दिया है।’ एलेक्स ने आगे बताया कि कम दूरी की यात्रा के लिए भी यह फीचर कार स्पीड की प्रेडिक्शन को बस के लिए अलग-अलग रूट के हिसाब के बदल लेता है।

नए फीचर के बारे में बात करते हुए गूगल मैप्स के प्रॉडक्ट मैनेजर ने बताया, ‘दुनियाभर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की भीड़ को समझने के लिए अक्टूबर 2018 से जून 2019 तक सुबह 6 से 10 बजे तक के डेटा को समझा। इसके बाद मिली रिपोर्ट से हमें यह तय करने में काफी मदद कि कौन सा रूट में सबसे ज्यादा भीड़ होती है।’ गौरतलब है कि गूगल मैप्स ने भारत में बसों के लाइव ट्रैफिक डीले को बताना शुरू कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here